मोदीजी की कुरुक्षेत्र रैली के लिए अभेद सुरक्षा इंतजाम।

मोदीजी की कुरुक्षेत्र  रैली  : दोस्तों, जैसा की आप सभी जानते हैं की लोकसभा चुनाव अपने आखरी चरण में हैं। सभी राजनैतिक पार्टी इस चुनाव में अपनी जीत सुनिश्चित करना चाहते हैं। सभी पार्टी के  स्टार प्रचारक जोरो शोरों से प्रचार में लगे हुए हैं। भारतीय जनता पार्टी केवल और केवल मोदी के दम पर चुनाव लड़ रही है। यही वजह है की बीजेपी के कार्यकर्ताओं के पास प्रचार के नाम पर केवल मोदी जी के गुणगान के अलावा करने को और कुछ बचा नहीं है। मोदी जी खुद ही किसी बड़े स्टार प्रचारक की तरह पार्टी को विजयी बनाने के लिए सारा जिम्मा अपने कन्धों पर ले लिया है।

मोदीजी की कुरुक्षेत्र रैली में जबरदस्त सुरक्षा इंतजाम:

मोदी जी चुनाव प्रचार करने के लिए धर्म नगरी कुरुक्षेत्र आने वाले हैं। मोदी जी के आगमन से पहले उनकी सुरक्षा के सारे इंतज़ाम कर लिए गए हैं। धर्म नगरी कुरुक्षेत्र के चप्पे चप्पे पर पुलिस और सुरक्षा कर्मियों की तैनाती कर दी गई है। मोदी जी के आगमन से लेकर रैली स्थल तक की निगरानी के लिए पांच पुलिस अधीक्षक, 15 पुलिस उप अधीक्षक और 1700 पुलिस अधिकारी एवं कर्मचारी तैनात कर दिए गए हैं।

यदि हम कहें की ये सभी मिलकर नरेंद्र मोदी की सुरक्षा के लिए किसी अभेद चक्रव्यूह का निर्माण कर रहे हैं तो गलत नहीं होगा। प्रदेश की पुलिस के साथ ही एसपीजी, आईबी, सीआईडी और तमाम दूसरी सुरक्षा एजेन्सियां मोदी जी की रैली में पल पल की खबर रखने वाले हैं।  सुबह पांच बजे से ही उन तमाम रास्तों को सील कर दिया जाएगा जिन जगहों से मोदी जी की चुनावी रैली गुजरने वाली है। 

मोदीजी की कुरुक्षेत्र रैली में शामिल कारगेड चालकों का हुआ मेडिकल जांच:

प्रधानमंत्री मोदी के इस चुनावी रैली में उनके कारगेड चालकों का भी सुरक्षा के लिहाज से मेडिकल जांच की गई है।  एलएनजेपी अस्पताल में सोमवार को ओपीडी बंद होने के बाद मोदीजी के कारगेड में शामिल होने वाले 11 चालाक पहुंचे। चिकित्सकों के एक पैनल ने इन सभी 11 चालकों का निरिक्षण किया जिसमे एक चालक का बीपी सामान्य से अधिक पाया गया। अधिक बीपी वाले चालक को दोबारा जांच कराने के लिए कहा गया।  

सुरक्षा के सभी पहलु को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा कर्मियों ने हॉस्पिटल के पास बन रहे निर्माणाधीन ईमारत की खिड़कियों को सुरक्षा के लिहाज से बंद करा दिया है। पुलिस अधीक्षक ने एक लिखित पत्र भेजकर जिला सिविल सर्जन को निर्देशित किया है। जिला सिविल सर्जन डॉक्टर डॉक्टर सुखबीर ने पत्र का जवाब देते हुए कहा की ईमारत अभी निर्माणाधीन है और अभी हमें सौपा नहीं गया। पीडब्लूडी विभाग को भी पत्र लिखकर एहतियात बरतने और सुरक्षा का ध्यान रखने के लिए कहा गया है। 

प्रधान मंत्री मोदी के लिए एलएनजीपी हॉस्पिटल में अलग से आपातकालिक कमरा तैयार किया गया है। सुरक्षा में चूक या किसी अनहोनी की स्थिति से निपटने के लिए एहतियात के तौर पर ऐसा किया गया है। इस कमरे में केवल सुरक्षा कर्मचारी और चिकित्सा अधिकारी ही जा पाएंगे। 

कुरुक्षेत्र के नागरिक जब घर से निकलें तो इन रास्तों का करें प्रयोग। 

पीएम रैली की सुरक्षा के मद्देनजर सुबह पांच बजे से ही पुराना बस अड्डे से लेकर थर्ड गेट तक का पूरा रास्ता सील कर दिया जाएगा। रैली समाप्त होने के दो घंटे बाद तक आम लोगों के लिए यह रास्ता बंद रहेगा। पिहोवा की तरफ से आने वाले वाहनों को मुख्यमार्ग ग्राम नरकतरी से मोड़कर शेख चाहेली मकबरा, माता भद्रकाली चौक से होते हुए पुराना बस स्टैंड होते हुए पीपली के लिए निकाला जायेगा। झांसा रोड से पिहोवा जाने वाले वाहनों के लिए नरकातरी रोड से होकर जाने वाला रास्ता ही रहेगा।

कैथल ढांढ मार्ग से आने वाले वाहनों को ग्राम मिर्जापुर से दयालपुर , एनआईटी गेट के सामने से होते हुए नई अनाज मंडी की तरफ से सौ फूटा रोड होते हुए पिपली और करनाल की तरफ जाना होगा। अम्बाला, लाडवा, यमुना नगर और करनाल की तरफ से कुरुक्षेत्र से होते हुए ढांढ व पिहोवा जाने वाले वाहनों के लिए परिवर्तित मार्ग 100 फूटा रोड , बीआर इंटरनेशनल चौक से चनारथल रोड, एनआईटी गेट से दयालपुर, मिर्जापुर होते हुए अपने तय स्थान तक जा पाएंगे। 

 इसी प्रकार आम जनता के आवाजाही के लिए प्रयोग की जाने वाली सभी आम रास्तों का रुट कार्यक्रम के लिहाज से बदल दिया गया है। कुरुक्षेत्र के नागरिकों से निवेदन है की वे घर से बहार निकलने से पहले बदले गए रास्तों की पूरी जानकारी ले लें तभी घर से बाहर निकलें, अन्यथा परेशानी हो सकती है। 

अगर होती एक चौथाई सुरक्षा तो नहीं होता पुलवामा हमला: 

मोदी जी की सुरक्षा के लिए इस चाकचौबंद व्यवस्था को देखकर मुझे अपने सीआरपीएफ के 44 शहीदों की याद आ गई जिन्हे पुलवामा आतंकी हमले में मार दिया गया। अगर मोदी जी की सुरक्षा की एक चौथाई भी सुरक्षा हमारे जवानों के काफिले के लिए बरती जाती तो आज देश अपने जवानों को नहीं खोता।  खैर मोदी जी नेता है और वो एक मामूली सैनिक थे और बीजेपी के हिसाब से तो सैनिक पैदा ही मरने के लिए होता है। 


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *