महिला ने गूगल पर किया एक सर्च और खाते से उड़ गए एक लाख रुपये।

नमस्कार दोस्तों,

दोस्तों 21 वीं शदी अपने तकनिकी विकाश के लिए मशहूर है। आज  लगभग  हर  तरह की सर्विस जिसके लिए हम पहले मैनपावर पर निर्भर थे और समय भी काफी लगता था अब वे सारे काम मोबाइल के माध्यम से अपनी उँगलियों के एक क्लिक द्वारा कर सकते हैं। मोदी जी ने डिजिटल इंडिया का नारा देकर देश की जनता को तकनिक का अधिक से अधिक उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया है। पर तकनीक की उपयोग की इस बढ़ते चलन के  साथ ही इसकी सुरक्षा पर भी कई सवालिया निसान खड़े कर दिए हैं।

एक गूगल सर्च...और महिला के अकाउंट से उड़ गए 1,00,000 रुपए

दोस्तों आज हमारा लगभग हर निजी जानकारी किसी न किसी सरकारी या गैर सरकारी सर्वर के माध्यम से ऑनलाइन उपलब्ध है। आधार कार्ड, मोबाइल नंबर, पैन कार्ड, बैंक अकाउंट ये सारी निजी और अति संवेदनशील जानकारी एक दूसरे से लिंक हैं और ऑनलाइन एक्सेस के लिए उपलब्ध है। हालांकि इनकी सुरक्षा के लिए सर्विस प्रोवाइडर्स हमेसा से हमे आस्वस्थ करते आये हैं और सरकार भी हमें अपनी गोपनीयता को लेकर निश्चिंत रहने की सलाह देती है पर फिर भी कई बार कुछ ऐसी घटनाएं देखने को मिलती है जिससे हमारी गोपनीयता की सुरक्षा पर कई सवाल खड़े हो जाते हैं। ऐसे में हमारा अपने बैंक खातों एवं अन्य निजी जानकारी की सुरक्षा के लिए चिंतित होना स्वाभाविक है। आइये जानते हैं ऐसे ही एक ऑनलाइन स्कैम के बारे में जहां एक महिला ने सिर्फ एक क्लिक से अपने एक लाख रुपये गंवा दिए।

आईपीएल में धूम मचाने आ रहा है यह रिकॉर्डधारी युवा खिलाड़ी.

ऑनलाइन धोखाधड़ी का यह हादसा जिस महिला के साथ हुआ है वह ईस्ट दिल्ली के सीमापुरी की रहने वाली हैं। आपको बता दें की ऑनलाइन धोखाधड़ी करने वाले गैंग बहोत ही शातिर होते हैं और वे अपने इस चोरी को अंजाम देने के लिए किसी भी प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर सकते हैं। ये चोर बड़े ही शातिर होते हैं और कंप्यूटर एवं इंटरनेट के अच्छे जानकार भी। यही वजह है की इन्हे पकड़ पाना बहोत ही मुश्किल होता है। इस बार इन शातिर ऑनलाइन स्कैमर्स ने महिला के खाते में सेंध लगाने के लिए सबसे बड़े और आम सर्च इंजन गूगल को  ही अपना हथियार बना लिया।

 

राफेल डील पर मोदी ने सुप्रीम कोर्ट से बोला झूठ, पकड़े जाने पर कहा सुप्रीम कोर्ट की समझ में गलती।

 

जिस महिला के साथ धोखाधड़ी की गई वह एक प्राइवेट फर्म में काम  करती हैं। इस महिला को अपने इ-वॉलेट की सेवाओं से जुडी कुछ समस्याएं आ रही थी। अपनी इस समस्या से सम्बंधित बात करने के लिए महिला ने जब गूगल पर वॉलेट कंपनी का कस्टमर केयर नंबर सर्च किया तभी हैकर्स ने इस घटना को अंजाम दे डाला।

एक गूगल सर्च...और महिला के अकाउंट से उड़ गए 1,00,000 रुपए

अपने इ-वॉलेट से गलत ट्रांसक्शन की शिकायत करने के लिए जब महिला ने गूगल पर कस्टमर केयर नंबर सर्च किया तो एक नंबर सामने आया। महिला ने समझा की यही कस्टमर केयर का नंबर है। उस नंबर पर कॉल किये जाने पर कॉल रिसीव करने वाले सख्श ने कंपनी का रिप्रेजेन्टेटिव बन कर बात की। महिला ने कस्टमर केयर का नंबर समझकर अपना कार्ड डिटेल शेयर कर दिया ताकि उसे इ-वॉलेट कंपनी से रिफंड मिल जाए। पर इससे पहले की महिला को थोड़ा भी शक हो  पाता, उसके खाते से एक लाख रुपये चोरी  हो गए। चोरी के बाद महिला को अहसास हुआ की जिस नंबर पर उन्होंने कॉल किया वह किसी स्कैमर का था  न की वॉलेट कंपनी का। हालांकि इस तरह के हादसों के लिए गूगल की कोई गलती नहीं होती बल्कि इसके लिए स्कैमर्स और खुद पीड़ित ही जिम्मेदार होता है।

 

कमरे में साथी एंकर, खाली शराब की बोतलें और न्यूज़ एंकर की संदिग्ध मौत। जानिये पूरी खबर।

 

आपको बता दें की इससे पहले भी स्काम्मेरस ने ऐसे कई चोरियों को अंजाम दिया है जिसमे गूगल, याहू या अन्य कई बड़ी सर्च इंजन या ईकॉमर्स पोर्टल को अपना जरिया बनाया है। अभी तक इन स्कैमर्स के बारे में कुछ खास सुराग नहीं मिल पाया है क्योंकि ये बहोत ही शातिर होते हैं और इस तरह की वारदात  को अंजाम देने के लिए अपनी नकली पहचान का उपयोग करते है। इनका आईपी अड्रेस भी नकली होता है।  इसलिए इसतरह के ज्यादातर मामलों में अपराधी बच जाते हैं। अगर आप भी ऑनलाइन पोर्टल से कुछ लेन देन करते हैं तो जरुरी सुरक्षा का जरूर ध्यान रखें। à¤à¤• गूगल सर्च...और महिला के अकाउंट से उड़ गए 1,00,000 रुपए

आइये जानते हैं ऑनलाइन स्कैमर्स से बचने के लिए कुछ जरुरी सावधानियां। 

  1. अपनी कार्ड या खाते से सम्बंधित गोपनीय जानकारी किसी से शेयर न करें। क्योंकि सर्विस प्रोवाइडर एवं बैंक कभी भी आपकी गोपनीय जानकारी जैसे की कार्ड नम्बर और पासवर्ड नहीं मांगता।
  2. जिस डिवाइस पे आप ऑनलाइन लेन-देन कर रहे हैं उसपर एंटीवायरस जरूर ओना चाहिए।
  3. विश्वसनीय पोर्टल से ही ऑनलाइन खरीदारी करें।
  4.  जगह आप पेमेंट कर रहे हैं वहाँ की पूरी जानकारी बटोर लें की वह विश्वासपात्र है की नहीं।
  5. गूगल सर्च की हर जानकारी 100 प्रतिशत सही हो यह जरुरी नहीं इसलिए जब बात आपके मेहनत की कमाई का हो तो सिर्फ ऑनलाइन मिली जानकारी पर आंखमूंदकर भरोसा न करें।

राहुल की राफेल का टूट गया कनेक्शन, हो रही क्रैश लैंडिंग।

दोस्तों अगर आप सभी ऊपर दी गई सारी जानकारी को अच्छी तरह से पढ़ लिए हैं और इसे अपनी आदत में शामिल कर लेते हैं तो आप कभी भी इस तरह के ठगी के शिकार नहीं बनेंगे।
यदि आपने अभी तक मुझे फॉलो/सब्सक्राइब नहीं किया है तो अभी कर दें ताकि आपको इसी तरह की हर जानकारी आपके मोबाइल पर मिलती रहे, धन्यवाद्। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *