दुनिया में मात्र पाकिस्तान ही एक मात्र ऐसा देश।

pakistanनमस्कार दोस्तों,

दोस्तों, जैसा की आप सभी जानते हैं की अभी भारत और पाकिस्तान का रिस्ता काफी तनावपूर्ण है। भारत में पल रहे आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के द्वारा भारत के सीआरपीएफ जवानों पर 14 फ़रवरी को किये गए आत्मघाती हमले की वजह से भारत ने अपना 44 सीआरपीएफ जवानों को खो दिया। भारत के बटवारे के बाद से ही जबसे पाकिस्तान एक नया मुल्क बना है तब से लेकर आज तक पाकिस्तान भारत पर इस तरह के आतंकी हमले करता रहता है। आमने सामने की लड़ाई में बार बार मिली शिकस्त के बाद जब पकिस्तान में आमने सामने का युद्ध करने की हिम्मत नहीं बची तो पाकिस्तान ने बुज़दिली का रास्ता याने की आतंकवाद का रास्ता अपनाया। कभी यह हमारे संसद भवन पर हमला करता है तो कभी ट्रेन या विमानों पर। पाकिस्तान एक स्लामिक देश कम और आतंकिस्तान के रूप में ज्यादा प्रशिद्ध हो चूका है और शायद पाकिस्तान को अपनी यह पहचान ज्यादा पसंद है।

 

अपने आतंकी आकाओं पर भारत के हमले से पागल हुआ पाकिस्तान का प्रधानमंत्री इमरान खान।

 

द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद से उससे होने वाले विनाश से सबक सिखने के बाद जहां एक और दुनिया के सारे देश शांति प्रिय वातावरण बनाकर आपस में मिलजुलकर रह रहे हैं,  युद्ध के बजाये एक साथ मिलकर क्रन्तिकारी ढंग से आधुनिक विकास की ओर बढ़ रहे हैं, नए तकनिक की खोज कर रहे हैं, नयी दुनिया की तलाश में ब्रम्हांड से भी आगे जाने की संभावनाओं की तलाश कर रहे हैं वहीँ दूसरी ओर पाकिस्तान इस्लाम की गलत व्याख्या और गलत समझ का शिकार होकर जेहाद के नाम पर पूरी दुनिया में  केवल आतंकवादी के रूप में अपनी पहचान बना चूका है। दुनिया में बहोत से इस्लामिक देश हैं जिनके सामने पाकिस्तान कुछ भी नहीं पर एक और जहां अन्य स्लामिक देश अपने राष्ट्र के विकाश को महत्वा देते हैं और तरक्की की सीढियाँ चढ़ रहे हैं वहीँ मात्रा पाकिस्तान ही ऐसा देश है जो केवल आतंकवाद के छेत्र में अपना विकाश कर रहा है।

 

भारत की कूटनीति के सामने पाकिस्तान ने टेक दिए घुटने।

 

14 फरवरी के हमले से एक बार फिर पाकिस्तान ने यह साबित कर दिया की वह केवल मासूम और निहत्थे लोगों पर पीठ पीछे प्रहार करके अपनी बुज़दिली को आतंकी छबि बताकर पूरी दुनिया में दहशत कायम करना चाहता है। पर उसकी यह विकृत मानसिकता की सोच न तो किसी को डरा पाएगी और न ही हरा पाएगी। पाकिस्तान को ऐसे कई मौके मिले जब वह अपनी कट्टरपंथी सोच को बदलकर दुनिया के बाकि देशों की तरह खुद को भी विकाश की धारा से जोड़कर आगे बढ़ सकता था।

 

ऐसे लिया गया पुलवामा हमले का बदला कि अब हिंदुस्तान के नाम से भी कांपेगा पाकिस्तान।

 

पकिस्तान को दुनिया के तमाम देशों से लताड़ पड़ चुकी है पर पाकिस्तान तो जैसे शर्म बेच खाया है। पाकिस्तान को दुनिया के सबसे शक्तिशाली देशों में से एक अमेरिका ने पाकिस्तान के भीतर पल रहे आतंकियों और कट्टरपंथियों को ख़त्म करने के लिए 20 एफ -16 विमान एक समझौते के तहत दिए थे की वह इन अति आधुनिक विमानों का उपयोग केवल आतंकवाद के खिलाफ करेगा न की किसी देश के खिलाफ किसी युद्ध या साजिस में। पर पाकिस्तान ने कभी भी इन विमानों का उपयोग आतंकियों के खिलाफ नहीं किया बल्कि आतंकियों को पनाह देता रहा और उनकी फंडिंग करता रहा।  आज पाकिस्तान की सेना में जवानों की संख्या से अधिक वहाँ आतंकवादियों की संख्या है।

26 फरवरी को जब भारत ने पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक कर वहां मौजूद आतंकी कैम्पों को तबाह किया और आतंकवादियों को मार गिराया तो इस पर पाकिस्तान ने भारत का धन्यवाद् करने के बजाए इसे खुद पर हमला और अपमान समझकर भारत से बदला लेने के लिए अपने ऍफ़-16 विमानों से भारत पर हमला कर दिया। पकिस्तान तब तक ऍफ़-16 विमानों के उपयोग के बात से मुकरता रहा जब तक हमारे एक जाबाज विंग कमांडर अभिनन्दन ने एक ऍफ़ -16 विमान मार नहीं गिराया और उसके मलबे का हिस्सा मीडिया में नहीं आया। हालांकि इस आत्मरक्षा कार्यवाही के दौरान हमारा विंग कमांडर पाकिस्तान के कब्ज़े में चले गया पर तब तक पाकिस्तान का असली चेहरा पूरी दुनिया को पता चल चूका था। पूरी दुनिया यह जान चुकी थी की पाकिस्तान कितना बड़ा झूठा और आतंकी देश है। यह वजह है की महज 55 घंटे के अंतराल में पाकिस्तान को घुटने टेकने पड़े और हमारे विंग कमांडर अभिनन्दन को वापिस करना पड़ा।

 

पुलवामा हमले का भारत ने इस तरह लिया बदला कि पाकिस्तान में मच गई तबाही।

 

अगर पाकिस्तान चाहता तो भारत और पाकिस्तान के रिश्ते कभी नहीं बिगड़ते। पर बॉर्डर पर हर दिन सीज फायर का उल्लंघन कर और बार बार के आतंकवादी हमलों से हमारे पड़ोसी देश ने खुद को हमारा सबसे बड़ा दुश्मन बना लिया। अगर पाकिस्तान किसी मज़बूरी से आतंकवादियों को खुद ख़त्म नहीं कर पा रहा है या आतंकवादी संगठन पकिस्तान सरकार की जानकारी के बिना छुपकर पाकिस्तान में रह रहे हैं तो यह खुद पाकिस्तान और वहां की आम जनता के लिए खतरनाक है। यदि पाकिस्तान की ख़ुफ़िया तंत्र से भारत का ख़ुफ़िया तंत्र ज्यादा मजबूत है तो पाकिस्तान को अपने देश से आतंकवादियों को ख़त्म करने में भारत का साथ देना चाहिए पर पाकिस्तान तो आतंकियों पर हमले का बदला लेने के लिए भारत की सीमा में घुसने की कोशिश  बैठा।

अब आप ही तय कीजिये की पाकिस्तान एक स्लामिक देश है या आतंकी देश। अपनी राय मुझे कमेंट करके बताएं  मुझे फॉलो करना न भूलें धन्यवाद्। 

1 thought on “दुनिया में मात्र पाकिस्तान ही एक मात्र ऐसा देश।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *